जिंदगी में बहुत सारे उतार-चढ़ाव देखे : करण कुंद्रा 

0
989
Karan Kundrra

विक्रम भट्ट की फिल्म का हिस्सा बनना कैसा रहा?

इसकी नींव बहुत पहले विक्रम सर  ने रख दी थी। मैंने सर के साथ हॉरर स्टोरी फिल्म की थी। उस समय सर ने कहा की ये लांच नहीं है लेकिन अच्छी फिल्म है। फिल्म के बाद मैंने टीवी के शो गुमराह, रोडीज में काम किया। विक्रम सर को मेरे काम के बारे में पता था।

और 1921  कैसे मिली?

फिर उनका एक दिन कॉल आया और वो मुझे एक वेब सीरीज के लिए कास्ट करना चाहते थे। फिर 4 साल के बाद मैं एक दिन विक्रम सर से मिलने गया। उन्होंने मुझे स्क्रिप्ट सुनाई, तो मुझे लगा की वो वेब सीरीज होगी। लेकिन वो तो पूरी बड़ी फिल्म थी। और उन्होंने जरीन खान से पहले ही बात कर ली थी। और उस समय मुझे पता चला की इतने बड़े लोगों के साथ फिल्म करने को मिल रहा है।

शूटिंग के बारे में बताइये?

हमने यॉर्कशायर में ही पूरी फिल्म शूट की है, जहां कई ऐसी घटनाएं घटी, जिसकी वजह से डर भी लगता था, फोटो में अलग लाग चेहरे भी आ जाते थे।

मुबारकां कैसे मिली?

मैं रोडीज और टीवी के शो कर रहा था, उस समय अनीस भाई (अनीस बज्मी) का कॉल आया , और बड़ा ही तगड़ा रोल था, वो पंजाबी लड़के की कहानी थी , और उस समय मैंने अनीस भाई को हां कहा, और मुबारकां में अर्जुन बन गया। उसके पूरा होने के 20 -25 दिन बाद 1921  शुरू हो गयी।

डर लगता है किसी चीज से?

दुखी होने से डर लगता है। मैंने जिंदगी में बहुत सारे उतार-चढ़ाव देखे हैं। मेरे पिताजी ने 200  रुपये से शुरुआत की थी, घर में मैं सबसे छोटा था , हमारी 750  फैक्ट्री भी बंद हो गयी थी। तो मैंने वो दौर भी देखा है। इसलिए ख़ुशी बहुत जरूरी है। रीयल इंसान आपके इर्द गिर्द होना बहुत जरूरी है।

शूट एन्जॉय करते हैं?

फिल्में या टीवी के शो करता हूं, पैक के बाद तुरंत घर और फॅमिली के पास चला जाता हूं।

डैड की कोई बात याद आती है?

जी वो हमेशा कहते थे की तू कुछ भी करेगा, पर भूखा नहीं मरेगा। काम और फॅमिली के साथ आगे बढ़ता जा रहा हूं।

जरीन के साथ काम करना कैसा रहा?

बहुत ही अच्छा अनुभव था और काफी बातें सीखने को मिली।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here