‘दिल संभल जा ज़रा’ आम रोमांटिक कहानी नहीं : संजय कपूर

0
775

स्टार प्लस पर ‘दिल संभल जा ज़रा’ में अनंत माथुर का किरदार निभा रहे संजय कपूर
का किरदार बेहद सौम्य और अमीर है तथा ये बातें उसे परफेक्ट पति बनाती हैं। वो
खुशमिजाज, दयालु तथा विनम्र के इंसान है। वह अपनी पत्नी अहाना और अपने पूरे
परिवार को बहुत प्यार करता है। अनंत माथुर का किरदार निभा रहे संजय कपूर से
हमने उसने किरदार के बारे में बातचीत की :-
‘दिल संभल जा ज़रा’ की कहानी के बारे में कुछ बतायें?
‘दिल संभल जा ज़रा’ एक पारिवारिक ड्रामा है। इसकी कहानी अहाना रायचंद की
जिंदगी के ईर्द-गिर्द घूमती है। इस शो में उसकी जिंदगी के सफर के माध्यम से
भावनाओं और रिश्तों की जटिलताओं को पेश किया गया है। अहाना की शादी एक
परफेक्ट इंसान अनंत माथुर से होती है। वह अपनी पत्नी से प्यार करने वाला, उस पर
पूरा ध्यान देने वाला एक अच्छा पति है। वह एक पारिवारिक एवं दयालु इंसान है
जिसकी दुनिया पूरी तरह आबाद है। हालांकि, उन दोनों के बीच एक ऐसी अनकही
सच्चाई है जिस कारण अनंत अहाना के लिए उपयुक्त नहीं है। यही वजह है कि उन
दोनों का रिश्ता खतरे में पड़ जाता है। इस शो में दिखाया गया है कि एक युवा लड़की
के रूप में अहाना अपने अंदर छुपी भावनाओं से किस तरह से लड़ती है। एक टूटे
परिवार से आने के बावजूद वह शादी की पवितत्रता पर भरोसा करती है। लेकिन
अहाना की शादी क्यों उसकी सबसे बड़ी गलती बन गई है।
अनंत माथुर कौन है?
अनंत का मेरा किरदार बेहद सौम्य और अमीर है तथा ये बातें उसे परफेक्ट पति
बनाती हैं। वो खुशमिजाज, दयालु तथा विनम्र इंसान है। वह अपनी पत्नी अहाना और
अपने पूरे परिवार को बहुत प्यार करता है। अहाना का आधुनिक ख्याल, आत्मसंतुष्ट
रवैया और उसकी पारिवारिक पृष्ठभूमि की वजह से जो मैच्युरिटी से मिली है, उसे
देखकर अनंत को उससे प्यार हो जाता है। इस किरदार को बेहतरीन तरीके से लिखा
गया है। जब विक्रम ने मुझे इसके बारे में बताया, तो मुझे उससे प्यार हो गया।
आपने इस किरदार के लिये क्या तैयारियां की हैं?
यह भूमिका स्वाभाविक रूप से मेरे अंदर से आ रही थी। स्मृति बहुत खूबसूरत हैं,
उन्होंने अपना जादू चलाया और ये चीजें अपने-आप बाहर आ गईं। वर्कशॉप के दौरान
हमारे बीच काफी बातचीत हुई और वह केमेस्ट्री बड़ी ही खूबसूरती से परदे पर
उभरकर आई।
आपने इस शो के जरिये वापसी करने का निर्णय क्यों लिया?

ऐसा नहीं था कि मैं टेलीविजन पर वापसी करने का इंतजार कर रहा था। विक्रम का
यह कदम थोड़ा हैरान कर देने वाला था, जिन्होंने मुझसे ‘दिल संभल जा ज़रा’ के लिये
संपर्क किया। टीवी पर जिस तरह के कार्यक्रम पेश किये जा रहे हैं, वह मैंने देखा लेकिन
यह आज के जमाने की कहानी है, जो हम शहरी समाज में देखते हैं। इस शो की कहानी
और उसे पेश करने का अंदाज, विक्रम ने जो कुछ भी मुझे बताया उससे मैं टीवी पर
वापस लौटने के लिये प्रेरित हुआ। यह आम रोमांटिक कहानी नहीं है जो अब तक
टेलीविजन पर प्रसारित होती आई है और इसलिये मैंने इस मौके को जाने नहीं दिया।
विक्रम भट्ट के साथ आपका तालमेल कैसा है?
विक्रम और मैं काफी अरसे से एक-दूसरे को जानते हैं। मुझे आज भी याद है, जब
‘शक्ति’ रिलीज हुई थी, विक्रम ने किसी बिलकुल नये तरह के प्रोजेक्ट पर मेरे साथ
काम करने की इच्छा जताई थी। हालांकि, अब तक कोई ऐसी कोई कहानी नहीं बन
पाई थी। लेकिन अच्छी बात यह है कि आखिरकार हमें टीवी शो के लिये एक अच्छी
कहानी मिल गई। मुझे इस बात की खुशी है कि आखिरकार हम साथ काम कर रहे हैं।
मैं खुश हूं कि हमने शुरुआत तो की।
आपने ‘शानदार’ में निक्की वालिया के साथ काम किया था, शो में उनके साथ आपकी
केमेस्ट्री कैसी है?
निक्की बहुत बेहतरीन अभिनेत्री हैं। सेट पर जब भी वो आस-पास होती हैं, हंसी-मजाक
करती रहती हैं। वह सचमुच मनोरंजन करने में माहिर हैं। ‘शानदार’ की शूटिंग के
दौरान हमने खूब धमाल किया था और ‘दिल संभल जा ज़रा’ में भी वही बेहतरीन पल
हम दोबारा साथ बिता रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here