साफ दिल वाला विलेन

0
1584
Vaibhav Mangle from Mere Sai

रील लाइफ के खलनायक यह सुनिश्चित करते हैं कि उनकी ऑनस्क्रीन परफॉर्मेंस दर्शकों के बीच गुस्से और नफरत को भड़काए। एक नकारात्मक किरदार को अच्छी तरह से निभाना नायक बनने जितना ही कठिन है। एक टेलीविजन शो का एंटीहीरो अपने व्यवहार से एक नितांत तुलना का निर्माण करता है जो बाद में शो में हीरो के सकारात्मक पहलू को दर्शाती है। इसके अलावा, दर्शक असली जिंदगी में भी इन विलेन्स को वैसा ही मानते हैं, जो कि पूरी तरह से गलत है। मेरे सांई में विलेन — कुलकर्णी की भूमिका निभाने वाले वैभव मांगले भी ऐसे ही कलाकार हैं। यह बहुत कम लोग जानते हैं कि वैभव सक्रिय रूप से सुविधाओं से वंचित लोगों और बच्चों की भलाई के लिए काम करने वाले अनाथालयों और एनजीओ को पैसे और सामान दान करते हैं।

वैभव ने बताया, ‘यह सच है कि मैं कभी—कभार कुछ एनजीओ की मदद करता हूं, लेकिन मुझे इसके बारे में ज्यादा बात करना पसंद नहीं है। मुझे लगता है कि अगर हम दूसरों की तुलना में बेहतर स्थिति में है, तो सुविधाओं से वंचितों की मदद करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। एक परिवार के रूप में, हम जब भी अपने बच्चों के जन्मदिन का उत्सव मनाते हैं, तो हम केवल 10—12 मेहमानों को ही बुलाते हैं और ढेर सारे मेहमानों को बुलाने में होने वाले खर्च को अनाथालय या वृद्धाश्रम में दान कर देते हैं। इन स्थानों में रहने वाले लोग काफी कठिन परिस्थितियों में रह रहे हैं और उनकी मदद करने से व्यक्ति को एक अच्छा कर्म करने की संतुष्टि की भावना मिलती है। हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि हम अपने समाज के वंचित हिस्से को उठाएं साथ ही इसके लिए जो भी कर सकें, वह करें।’

इस हालिया कहानी में, आसपास के गांवों से सांई के दर्शक के लिए आने वाले आगंतुकों की संख्या में वृद्धि होने की वजह से द्वारकामाई में पानी की किल्लत हो जाती है। पानी का निकटतम स्रोत कुछ दूरी पर है। सांई अपने भक्तों के साथ यह पीड़ा सहते हैं क्योंकि अहमदनगर सूखे से प्रभावित क्षेत्र है। सांई अपने भक्तों की प्यास कैसे बुझाएंगे? क्या द्वारकामाई की पानी की समस्या हल होगी?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here