अपने पसंदीदा घोड़े रोचेस्टर की मौत पर दुखी है श्रेयस तलपडे

0
152
shreyas talpade and rochesters

चैंपियन घोड़े और उसके प्रशिक्षक के जीवन पर एक फिल्म बनाएंगे अभिनेता श्रेयस तलपडे अपने अगले निर्देशन में रोचेस्टर को देंगे श्रद्धांजलि

मुंबई: अभिनेता श्रेयस तलपडे कल पुणे में रोचेस्टर नामक अपने पसंदीदा घोड़े की मौत के बारे में सुन कर काफी दुखी हैं. रोचेस्टर ने फरवरी 2018 में देश की सबसे बड़ी रेस में से एक क्लासिक इंडियन डर्बी जीता था. चार साल का रोचेस्टर भारतीय डर्बी में शानदार प्रतिद्वंद्वियों को हराकर अपने शॉर्ट रेसिंग करियर के शिखर पर पहुंच गया था. पुणे में रॉयल वेस्टर्न इंडिया टर्फ क्लब के एक्वाइन अस्पताल में कल दोपहर उसकी मृत्यु हो गई.

इस वर्ष क्लासिक इंडियन डर्बी में रोचेस्टर की अप्रत्याशित और शानदार जीत से प्रेरित हो कर श्रेयस रोचेस्टर और उसके ट्रेनर शिराज सुंदरजी पर एक फिल्म बनाने की योजना बना चुके थे. ट्रेनर शिराज सुंदरजी और चैंपियन घोड़े रोचेस्टर की सच्ची कहानी पर आधारित एक फिल्म. श्रेयस रोचेस्टर और उसके प्रशिक्षक की साहस, बहादुरी और अस्तित्व की अविश्वसनीय और असामान्य कहानी पर बहुत मेहनत कर रहे है.

दुखी श्रेयस ने कहा, “रोचेस्टर समर ब्रेक के बाद पहली बार रेस ट्रैक पर आने के दौरान एक दुर्घटना का शिकार हो गया. उसे कानों के बीच चोट लगी. उसके बाद पुणे रेस कोर्स में सुबह कसरत के लिए बाहर जाते समय वो गिर गया. इस साहसी घोड़े ने 2016 में मौत को हराया था, जब उसे पुणे में खतरनाक कोलिक संक्रमण हुआ था. आपातकालीन शल्य चिकित्सा के बाद रोचेस्टर के लिए रेसिंग का विकल्प नहीं था, लेकिन जटिलताओं के बावजूद, उसने सभी बाधाओं से लड़ते हुए क्लासिक इंडियन डर्बी जीती. यह उसके प्रशिक्षक शिराज सुंदरजी और उसके अख्तर पीरभॉय का विश्वास ही था, जिसने उसे प्रशिक्षित कर क्लासिक इंडियन डर्बी जीतने के लिए प्रेरित किया.”

श्रेयस पहली बार रोचेस्टर के मालिक अख्तर पीरभॉय और प्रशिक्षक शिराज सुंदरजी से तब मिले जब, श्रेयस को उसकी प्रेरणादायक कहानी की जानकारी हुई. सुंदरजी ने घोड़े पर फिल्म बनाने की मंजूरी दे दी. फिल्म ट्रेनर और उसके घोड़े के आसपास घूमती है, जो रेस ट्रैक पर वापसी करना चाहता है. अपने घोड़े में ट्रेनर की आस्था सच हो गई, जब रोचेस्टर  ने जीत हासिल की.

श्रेयस ने कहा, “मैं घोड़े के मालिक और प्रशिक्षक के संपर्क में तभी से था, जबसे रोचेस्टर दुर्घटना का शिकार हुआ था. मैं इसके स्वास्थ्य की रिकवरी को लगातार ट्रैक कर रहा था. वह ठीक हो रहा था. लेकिन कल, उसका स्वास्थ्य अचानक गिरना शुरू हो गया और दुर्भाग्य से उसकी मौत हो गई.  मुझे लगता है कि मैं उसे सालों से जानता था और जैसेकि मैंने किसी करीबी को खो दिया है.”

श्रेयस फिल्म की स्क्रिप्ट पर काम कर रहे हैं, जिसे वह अपने पहले निर्देशन ‘पोस्टर बॉयज़’  के बाद फिर से डायरेक्ट करने की योजना बना रहे हैं. रोचेस्टर की मौत के बाद, श्रेयस दृढ़तापूर्वक मानते है कि उस असाधारण घोड़े और उसके प्रशिक्षक की कहानी सामने लाना और भी महत्वपूर्ण हो गया है. मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि ये फिल्म  रोचेस्टर के लिए श्रद्धांजलि के रूप में बनाया जाए, क्योंकि रोचेस्टर जैसा बहादुर चैंपियन हमेशा जिन्दा रहता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here