देवदास से ठीक उलट सुधीर मिश्रा की “दासदेव”

0
582
Rahul Bhat DaasDev

निर्देशक और लेखक सुधीर मिश्रा जिन्होंने भारतीय सिनेमा को कुछ अविश्वसनीय और यादगार फिल्में दी हैंउनके निर्देशन में बनी उनकी अगली फिल्म दासदेव रिलीज़ के लिए तैयार है। फिल्म में ऋचा चड्ढा पारो काअदिति राव हैदरी चांदनी का और राहुल भट्ट देव का किरदार निभा रहे हैं। यह फिल्म शरतचंद्र चट्टोपाध्याय के क्लॉसिक उपन्यास देवदास का एक आधुनिक रूपान्तरण है जिसमें राजनीति की पृष्ठभूमि में आधुनिक भारत को दिखाया गया है।

सुधीर मिश्रा ने इससे पहले इस रात की सुबह नयीहज़ारों ख्वाहिशें ऐसीये साली जिंदगीखोया खोया चाँद  जैसी लीक से हटकर फिल्में दी हैं। अपनी अलग तरह की फिल्मों के लिए पहचान रखने वाले मिश्रा की यह अनूठी कहानी निश्चित तौर पर सबके लिए बहु-प्रतीक्षित एवं कौतूहल का विषय है।

आधुनिक भारत में स्थापित दासदेव’ कुछ नये किरदारों के साथ उत्तरप्रदेश की राजनीतिक उथल-पुथल की पृष्ठभूमि के मध्य एक प्रेम कथा पर आधारित है। दासदेव की कहानी क्लॉसिक उपन्यास देवदास से ठीक उलट चलती है तथा यह एक रोमांटिक थ्रिलर फिल्म है जिसमें सत्ता के नशे को दर्शाया गया है। प्रेम यात्रा तीन प्रमुख किरदारों के इर्द-गिर्द घूमती है। दासदेव’ सत्ता के बारे में है जो प्रेम के बीच दीवार खड़ी करती है।

निर्देशक सुधीर मिश्रा ने कहा, “किसी भी अच्छे काम को उपयोग में लेना मेरा अधिकार हैमेरी धरोहर है और मैं उसके साथ बदलाव कर सकता हूं जब तक कि यह मुझे स्वीकार्य है। मैं मानता हूं कि मैंने उपन्यास देवदास का उपयोग किया। देवपारो और चन्द्रमुखी तीनो किरदारों को लिया। जब मैं यह काम कर रहा था तब शेक्सपियर याद आए और मैं उनसे प्रभावित हुआमैं क्या कर सकता थाऔर अन्त में यह फिल्म सत्ता के बारे में बनी जो कि प्रेम के रास्ते में आड़े आती है। यह फिल्म उलट चलती है क्योंकि देवदास की कहानी में आप देव’  के दास  बनने की यात्रा देखते हैं तो इस फिल्म की कहानी में अपने परिवार की परम्पराओं एवं वंशवाद से बंधे दास‘  से देव‘  बनने की यात्रा है।

स्टॉर्म पिक्चर्स द्वारा प्रस्तुत और सप्तऋषि सिनेविजन द्वारा निर्मित यह फिल्म 16 फरवरी 2018 को दुनियाभर के सिनेमाघरों में रिलीज होने के लिए तैयार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here