पल्लवी की थियेटर से स्क्रीन तक की यात्रा प्रेरणादायक  

0
1136

अभिनय करना मुश्किल काम है। इतनी बड़ी इंडस्ट्री और इतनी सारी प्रतिभाओं के बीच
खुद को साबित करना और भी मुश्किल। ऐसी ही एक दिलचस्प कहानी है स्टार भारत के
शो ‘जीजी मां’ में उत्तरादेवी का किरदार निभा रहीं पल्लवी प्रधान की, जिनकी करियर
जर्नी दूसरों के लिए प्रेरणादायक है।

थियेटर और नाटकों के साथ अपना करिअर शुरू करने वाली पल्लवी प्रधान को उनके
करिअर का पहला चेक 75 रुपये का मिला था। आज के समय में जब हम स्क्रीन पर अपने
पसंदीदा कलाकारों को देखने के लिए आंख मूंदकर भुगतान करते हैं, 75 रुपये के साथ
शुरुआत करना और स्टेज से स्क्रीन तक की जर्नी वाकई काबिलेतारीफ है
पल्लवी प्रधान एक प्रतिभाशाली अभिनेत्री है, जो गुजराती और मराठी नाटकों और हिंदी
टेलीविजन शो के लिए जानी जाती हैं। चाहे इसे लेडी लक कहिए या कड़ी मेहनत,
पल्लवी एक-एक कदम चढ़ती हुई इस मुकाम तक पहुँचीं हैं।

अपन अनुभव साझा करते हुए पल्लवी प्रधान कहती हैं, सफलता आपके पास रातोंरात
नहीं आती। आपको सपने देखने पड़ते हैं, और उस दिशा में काम करना पड़ता है। स्टेज के
प्रति मेरा बहुत लगाव था और नाटक करना मुझे बहुत पसंद था। हर समय परफेक्शन के
साथ परफॉर्म करना आसान नहीं है। मेरा मानना है कि जब आप अपने काम से खुश होते
हैं तो आपके लिए पैसा मायने नहीं रखता। और आपका काम आपको वहां ले जाता है,
जहां आप जाना चाहते हैं। आज मैं बहुत संतुष्ट और खुश हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here