पैरेंट्स ही मेरे रोल मॉडल :  निया शर्मा

0
412
Niya Sharma as Sharada in Tenali Rama

निया शर्मा जो आखिरी बार वानी रानी पर देखी गई, अब तेनाली राम की पत्नी शारदा का किरदार निभाने जा रही है। एक कॉमिक रोल के साथ-साथ एक ऐतिहासिक चरित्र निभाने के लिए भी चुनौतीपूर्ण है। निया शर्मा की दूसरी चुनौती है कि वह एक अभिनेत्री की जगह ले रही है। पेश है उनसे बातचीत के अंश :

 

आपने अपने अभिनय कॅरिअर की शुरुआत किस तरह की, उसके बारे में बतायें?

मैं जन्मजात अभिनेत्री हूं। हालांकि, मैंने इसे प्रोफेशन के तौर पर बहुत गंभीरता से नहीं लिया क्योंकि सबसे पहले मैं अपने कॅरिअर पर ध्यान देना चाहती थी। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद, मुझे समझ में आया कि मुझे अभिनय में अपना कॅरिअर बनाने का सपना पूरा करना है और मैं मुंबई आ गई। पहले के ढाई साल, मैंने अकाउंटेट के तौर पर काम किया और उसके बाद मुझे विज्ञापन मिलना शुरू हुआ, जिससे मेरे अभिनय कॅरियर की शुरुआत हुई।

‘तेनाली रामा’ शो आपको कैसे मिला?

‘तेनाली रामा’ से पहले ब्रेक लिया हुआ था और फरीदाबाद में अपने घर पर ही थी। मैं यहां अभी-अभी आई हूं और एक महीने के अंदर ही मुझे ‘तेनाली रामा’ में शारदा का ऑफर आया। जब मैंने ‘तेनाली रामा’ का नाम सुना, मैं मान गई और मैंने ऑडिशन दिया। मैं शारदा के किरदार के लिये बिलकुल ठीक थी और पहले ही ट्रायल के बाद मैंने इसकी शूटिंग शुरू कर दी।

‘तेनाली रामा’ में शारदा के अपने किरदार के बारे में बतायें?

अपने किरदार शारदा के बारे में बात करूं तो वह उत्साह से भरी हुई और जिंदादिल है। शारदा बहुत ही मासूम और साथ ही बहुत चुलबुली भी है। अम्मा के साथ-साथ शारदा सबकी चहेती है। मुझे इस किरदार को निभाने में इसलिये मजा आ रहा क्योंकि मैं शारदा की तरह नहीं हूं और मुझे ऐसी भूमिका निभाने का मौका मिल रहा है। वास्तव में यह मुझे बहुत ही रोमांचक लगा।

इस भूमिका के लिये क्या आपने कोई खास तैयारी की?

भारी आवाज के साथ, मैं बहुत ही गंभीर इंसान हूं। इस किरदार के लिये, मुझे भारी आवाज के साथ प्रैक्टिस करनी थी, क्योंकि शारदा का किरदार ऐसा है जो जोर-जोर से बोलती है लेकिन मैं नहीं। सीन की शुरुआत करने से पहले, मुझे अपनी आवाज को किरदार के अनुसार बदलना पड़ा और ऐसा करने के बाद ही मैंने अपना सीन शुरू किया।

जब आपको प्रियम्वदा की जगह शारदा की भूमिका निभाने के लिये कहा गया तो आपकी क्या प्रतिक्रिया थी?

जिस दिन मुझे यह ऑफर मिला, मैं सोनी सब के शो ‘तेनाली रामा’ के बारे में काफी रिसर्च की और तब मुझे पता चला कि यह शो कितना बड़ा है। इससे मुझे इस शो में काम करने की बेहद उत्सकुता जगी। मैंने शारदा के रूप में प्रियम्वदा का काम देखा है और मैंने देखा कि कितने नैचुरल तरीके से वह अपना काम कर रही हैं और इससे मेरा जोश और बढ़ गया। मुझे उस ऊर्जा और जोश से मैच करना था। मैंने कमर कस ली और कड़ी मेहनत करना शुरू कर दिया।

पहले आपने जिस तरह की भूमिकाएं निभाईं, ‘तेनाली रामा’ में काम करने का अनुभव उससे किस तरह अलग है?

मैंने टेलीविजन पर कई सारे किरदार निभाये हैं। हालांकि, ‘तेनाली रामा’ काफी अलग हटकर है। यह इतिहास और हास्य का मिश्रण है, जिसे निभाना और वहां तक पहुंचना मुश्किल है। इस जोनर के लिये मुझे अपनी हिन्दी को बेहतर बनाना था था, साथ ही अपनी बॉडी लैंग्वेज को भी। कई बार ऐसा होता है कि मैं कोई शब्द बोलती हूं और मैं उसका मतलब बिलकुल भी नहीं जानती।

आपकी प्रेरणा कौन हैं?

मैं किसी को भी अपनी प्रेरणा नहीं मानती, क्योंकि मेरे पैरेंट्स ही मेरे रोल मॉडल हैं। जब छोटी थी तो अपने पैरेंट्स को कई सारी तकलीफों से गुजरते देखा और उन्होंने उसे बड़ी खूबसूरती से संभाला। इससे मुझे यह बात समझ में आई कि आपके जीवन में आपकी कोशिश से बड़ी कोई चीज नहीं है और इससे मुझे अपने जीवन की हर परेशानी से उबरने में मदद मिली।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here