सलमान खान, एक इंसानी फोनबुक

0
183
Salman Khan on Dus Ka Dum

दमदार सलमान खान सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के सबसे बड़े गेम रिएलिटी शो ‘दस का दम’ पर 9 साल के बाद वापस आ गए हैं। पूरे भारत से हिस्सा ले रहे प्रतियोगियों के साथ, हर कोई अलग जिंदगी और कहानी के साथ आता है। साथ ही, इस शो पर पूछे जाने वाले सवाल रोज़ाना ज़िंदगी के सवाल है जो देश की सोच के बारे में काफी कुछ बताते हैं। ‘पांच का पंच’ राउंड में गाजियाबाद की प्रतिभा चौहान और नवी मुंबई के प्रमोद अग्रवाल के साथ खेलते हुए, यह सवाल पूछा गया कि ‘कितने लोगों को अपने माता-पिता के फोन नंबर याद रहते हैं?’, जिस पर सलमान खाने एक काफी दिलचस्प बात याद आ गई, जो उन्होंने वहां मौजूद सभी लोगों के साथ साझा भी की।

Salman Khan on Dus Ka Dum

एक्टिंग करने के अलावा, यह एक्टर एक समय इंसानी फोनबुक भी थे! बीते समय में, तकनीक आज की तरह रफ्तार नहीं पकड़ रही थी। कॉल करने के लिए लैंडलाइन के भरोसे ही रहना पड़ता था और डायरी एकमात्र ऐसी कॉन्टेक्ट लिस्ट थी जो सबके पास होती थी। सलमान खान ने बताया कि एक समय था जब उन्हें लगभग 200-300 नंबर याद रहा करते थे और वह फोनबुक पर देखे बिना ही उन्हें डायल कर सकते थे। वह चलते—फिरते इंसानी डायरी थे। आज कल, तकनीक की वजह से, नंबर याद करने की जगह हर किसी की आदत उन्हें सेव करने की है। दूसरी तरफ, सलमान खान सभी महत्वपूर्ण नंबरों को याद रखते थे और अगर परिवार में किसी व्यक्ति को किसी को कॉल करने की जरूरत होती थी, तो वह डायरी देखने की जगह, सलमान को बुलाते थे!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here