स्टार प्लस पर हास्य-व्यंग्य से भरपूर ‘Har shaakh pe ullu baitha hai’

0
1723
Rajeev Nigam as Shri Chaitu Lal in har shaakh pe ullu baitha hai

Har shaakh pe ullu baitha hai full of comedy

कौन-सा वादा करना उनके लिये फायदेमंद है और किसे निभाने से हमें फायदा मिलेगा’, यही आज के जमाने के राजनेताओं का मूलमंत्र बन गया है। इसके बावजूद, कुछ राजनेता ऐसे भी होते हैं जब वे मीठे बोल बोलते हैं और मुस्कान के साथ स्वागत करते हैं तो जनता को उम्मीद होती है कि उनकी समस्या का उन्हें समाधान मिलने वाला है!

Rajeev Nigam as Shri Chaitu Lal in har shaakh pe ullu baitha hai

स्टार प्लस राजनीति पर बिलकुल नये तरह के ‘हर शाख पे उल्लू बैठा है’ के साथ एक ऐसे ही नेता श्री चैतू लाल (राजीव निगम) की कहानी लेकर आ रहा है। यह मुख्यमंत्री भोली-भाली जनता को अपने झूठे वादों से उल्लू बनाने के लिये जाना जाता है। किसी भी अन्य नेता की तरह चैतू लाल भी पूरी तरह से जोड़-तोड़ करने में माहिर है, बातें बनाने में उसका कोई मुकाबला नहीं और वह बहुत ही मौकापरस्त किस्म का है। उसकी ‘ठेंगा पार्टी’ केवल प्रशासन को धोखा देकर काला धन कमाती है। वह वादा करता है कि आम आदमी के फायदे के लिये काम करेगा, लेकिन वही करता है जिससे उसे फायदा हो।

Rajeev Nigam as Shri Chaitu Lal in har shaakh pe ullu baitha hai

इस कॉमेडी शो में उसकी पत्नी इमली देवी (समता सागर) उसका साथ दे रही है। वह हर मुश्किल घड़ी में अपने पति के साथ खड़ी रहती है। शासक पार्टी का नेता होने के बावजूद जब चैतू घर वापस लौटता है, उसकी पत्नी सबसे बड़ी सहयोगी होती है। इमली अपने भाई और मुख्यमंत्री के जोशीले साले पुत्तन (इश्तियाक़ खान) को देश के प्रधानमंत्री के रूप में देखने की आस लगाये हुए है। राज्य में यूथ आईकॉन पुत्तन अपने जीजाजी की तरह ही धूर्त है। उसके खिलाफ 13 मामले दर्ज हैं और उसने राज्य के सभी बेहतरीन कॉलेजों से डिग्री खरीदी है। जब राजनीति और भ्रष्टाचार की बात आती है तो पुत्तन किसी भी रूप में चैतू से कम नहीं है।

Rajeev Nigam as Shri Chaitu Lal in har shaakh pe ullu baitha hai

इस शो में आम आदमी के मुद्दों को व्यंग्यात्मक तरीके से प्रस्तुत किया गया है। इसमें दिखाया गया है कि चैतू लाल किस तरह शिक्षा, बुनियादी जरूरतों, भ्रष्टाचार जैसे आम आदमी से जुड़े मुद्दों को सुलझाता है। साथ ही चुनावों में होने वाली धांधली, एमएलए की खरीद-फरोख्त और अचानक ही किसी समिति का गठन हो जाना, जोकि लोगों के पैसों का गलत इस्तेमाल करते हैं, उसे दर्शाया गया है। इन घटनाओं के माध्यम से बड़ी ही मजेदार परिस्थितियों के साथ चोट करते हुए, राजनीति के कुरूप चेहरे को दिखाया गया है।

चैतू लाल की भूमिका निभा रहे राजीव निगम कहते हैं, ‘आज के दौर में जहां राजनीति किसी मसालेदार पॉट-बॉयलर से कम नहीं, इस तरह के शो स्टार प्लस की एक बेहतरीन पहल है। यह विषय उत्सुकता जगाता है और अपने स्पष्ट विचार रखता है। उन लोगों के लिये भी जो वोट नहीं डालते हैं, जिनकी राजनीतिक पार्टियों को लेकर एक स्पष्ट विचारधारा है, उनकी विचारधाराएं या फिर उनकी व्यक्तिगत सोच दर्शाता है। चैतू लाल के रूप में मुझे भ्रष्ट राजनेताओं के गलत तरीकों को समझने और परदे पर उसे पेश करने का मौका मिला है। मुझे उम्मीद है दर्शक मुझे एक धूर्त भ्रष्ट राजनेता के रूप में बहुत पसंद करेंगे, जोकि सार्वजनिक तौर पर लोगों के हितों का वादा करता है लेकिन अंततः फायदा केवल उसके परिवार और दोस्तों को मिलता है। दर्शक बेवकूफ, स्वार्थी और राज्य की अनदेखी करने वाले मुख्यमंत्री के रूप में मुझसे नफरत करेंगे।’

स्टार प्लस अपने दर्शकों के लिये एक ऐसा शो लेकर आया है जिसमें धूर्त बाबुओं, सत्ता को लेकर उनकी खींचतान, विकास के एक अलग ही स्वरूप, भ्रष्टाचार की भूख और सिंहासन को पाने की लालसा को ‘कुर्सी’ के बहुत ही देसी अंदाज में प्रस्तुत किया गया है। अपने राज्य को चलाने के लिये चैतू लाल को केवल एक ही भाषा आती है और वह है भ्रष्टाचार। इस कहानी का हिस्सा बनें और उस दुखद स्थिति पर खिलखिलाएं!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here